You are !!

You are !! You are what you eat, You are made up of it. You are what you speak, You always listen it. You are what you listen, You always absorb some of it. You are what you think, You always manifest it someway. You are what you watch, You remember the impressions. You are … Continue reading You are !!

Advertisements

Smartest Person in the Room

When you are the smartest person in the room, ... you are in the wrong room. When you are the smartest person in the room, ... you are the room. When you are the smartest person in the room, ... you are in delusion. When you are the smartest person in the room, ... others … Continue reading Smartest Person in the Room

आभास

वो एक रात थी तारों की बारात थी मै था अकेला और खुद से की बात थी हमारी क्या औकात थी ये जिंदगी जो एक सौगात थी भीड़ मे था तन्हा और सायों की ही जमात थी एक कलम के सिपाही के लिखने की क्या औकात थी जब घूम ली थी पूरी दुनिया तो की … Continue reading आभास

सृष्टि है वो अपनेआप मे

सृष्टि है वो अपनेआप मे घटाओं जैसे बालों से घिरी हुई बर्फ जैसी रंगत है, सीप जैसी पलकों में नीलम जैसी आँखें हैं, गुलाब जैसे होठों में मोती जैसे दांत, फूलों जैसे गाल हैं और कमल जैसे अंग, बच्चों जैसी हँसी और लहरों जैसी अदाएं, प्यार से भी प्यारी है वो !! Regenerated in English: She is creation … Continue reading सृष्टि है वो अपनेआप मे

अगर हम सपने न देखते

ज़िन्दगी बहुत आसान होती अगर हम सपने न देखते .. पर ज़िन्दगी भी क्या ज़िन्दगी होती अगर हम सपने न देखते .. छोटी छोटी बातों पर खुश होते अगर हम सपने न देखते .. पर बड़ी बड़ी खुशियाँ कैसे देते अगर हम सपने न देखते .. इतनी ठोकरें न खानी पड़ती अगर हम सपने न … Continue reading अगर हम सपने न देखते

परीक्षा की तैयारी

पढ़ने को है बहुत कुछ, पर समझ मे आता कुछ नही । करने को है बहुत कुछ, पर दिल चाहता कुछ भी नही ॥ शरीर की थकान सुलाती है, दिमाग की किताब रुलाती है । गणित करो तो दिल घबराता, विज्ञान तो दिमाग भी साथ ले जाता । परीक्षा तो है मेरे सर पर, इसलिए … Continue reading परीक्षा की तैयारी

पिया

मीरा जी भजन गाते हुए वन-विहार कर रही हैं, सावन ॠतु मे बरखा बरस रही होती है और वन मे मोर नाच रहे होते हैं. मीरा भई थी बावरी, जो तेरा रंग भाया था मोर भए बनवारी, जो तेरा रंग अपनाया था देख मेघ वो श्यामल, था मेरा मन वो नाचा तुझ संग प्रीत लगाई … Continue reading पिया